लैंसडाउन के रास्ते पर इतनी ख़ास क्यों है ये आम सी जगह?

दिल्ली और आस-पास से वीकेंड के लिए निकलने की यह एक बढ़िया और आरामदेह जगह है.

घुमंतू लड़की-4: ये अनुभव मैं ज़िंदगी भर नहीं भूल पाऊंगी

आज की रात इस खूबसूरत से गांव में गुजारनी थी. चाँद की रोशनी में. जंगल की आवाज़ रात भर अपने होने का एहसास कराती रही.

अगर आप सुकून की तलाश में हैं तो ये जगह बिल्कुल सही है

यहां की शांति और खूबसूरती के बीच रेत पर पड़ती सूरज की किरणें यह बताती हैं कि प्रकृति कितनी खूबसूरत है.

घुमंतू लड़की-3: पहाड़ों की नशीली सी हवा का जादू

जो काम मैंने बन मक्खन के साथ किया था अगर बन मक्खन की कोई सोसाइटी होती तो उस वक़्त मेरे खिलाफ प्रोटेस्ट चालू हो चुका होता.

घुमंतू लड़की-2: छोटे बालों वाली लड़कियों को लोग इतना घूरते क्यों हैं?

पहाड़ों में इतनी शांति ऐसी अजीब होती है कि आपको अपनी साँसें भी सुनाई देने लगती है. एक सूं सा सन्नाटा कान के चारों और चीखता है.

अकेले घूमने निकली लड़की के घुमंतू किस्से

एक दिन इस लड़की ने उठाया बैग और निकल पड़ी कुछ अनजान रास्तों से दोस्ती करने, कुछ अनजान लोगों को जानने…

नर्मदा परिक्रमा: ”यहां हमें भगवान की तरह ट्रीट किया गया”

मुझे लगा था कि सांप वाली कहानी आज के लिए पर्याप्त होगी. लेकिन कुछ और कहानियां अभी बाकी थीं.

नर्मदा परिक्रमा: एक आश्रम से दूसरे आश्रम की उम्मीद में…

सबकुछ जल्दी से पा लेने की होड़ में हमें जबरन भगाया जाता है. लेकिन….

तवा डैम रिजॉट: प्रकृति का खूबसूरत फ्रेम

ये रास्ता उतना आसान नहीं था जितना गूगल मैप में दिख रहा था, लेकिन घुमक्कड़ी का जुनून कुछ भी करवा सकता है.

कम खर्चे में घूम सकते हैं ये 5 हिल स्टेशन

कितनी भी सर्दी हो, बर्फ से ढके पहाड़ और सर्द हवाओं के साथ झरझराती बर्फ पहले प्यार को जी भर से गले लगाने जैसा सुख देते हैं.

सोलो ट्रैवेलिंग पर जाना है तो ऐसे बनाएं प्लान…

ग्रुप्स में घूमने का यह नुकसान भी होता है कि आपको सब के हिसाब से चलना पड़ता है लेकिन सोलो ट्रैवेलिंग आपको इंडिपेंडेंट बनाती है.

मांडू: घूमने के शौकीनों के लिए यहां दिखेगी खास ‘लव स्टोरी’

यह खड़ी ढाल के रूप में घुमावदार मार्ग पर बनाया गया है, जहाँ पहुँचने पर हाथियों की गति धीमी हो जाती थी.