यहां दिखते हैं ज़िंदगी के असली रंग

ज़िंदगी में रोज हम अलग-अलग रंग देखते हैं. अलसाई सुबहें, जगमगाती शामें, गुलाबी ठंड, सर्द रातें तो कभी चांद की रोशनी में सुकून देने वाली ठंडी हवा का झोंका. ये सब कुछ हम देखते हैं, महसूस करते हैं और आगे बढ़ जाते हैं.

लेकिन ये सब तब और ख़ास होता है जब हम निकलते हैं घुमक्कड़ी पर. ज़िंदगी के असली रंग घुमक्कड़ी की उन पगडंडियों पर दिखते हैं जहां हम भटक रहे होते हैं कभी अकेले कभी पहाड़ों के घुमाव रास्तों पर किसी का हाथ थामे.

bee

घुमक्कड़ी का रस भी मदहोश कर देने वाला है. मधुमक्खी की तरह आप एक फूल से दूसरे फूल यानी एक जगह से दूसरी जगह का लुत्फ लेते हैं और उनमें से जो फूल सबसे खूबसूरत होता है वहां ठहर जाते हैं, थोड़े से सुकून के लिए.

bird

कुछ वक़्त सुस्ताने के बाद पक्षियों की तरह घुमक्कड़ी की उड़ान भरते हैं. फिर नए जंगलों, पहाड़ों और झीलों के किनारों पर पहुंचते हैं. वो ताज़ा हवा सुकून का ग्राफ़ बढ़ा देती है.

life

समंदर के किनारों पर कभी अकेले बैठेंगे तो सामने से आती लहरें आपकी ज़िंदगी की हक़ीक़त दिखाएंगी. सारे उतार-चढ़ाव, लहरों का शोर और फिर थोड़े से वक़्त के लिए शांति. सब कुछ उन लहरों में छिपा है. किसी का साथ हो तो समंदर के किनारे बेहद खूबसूरत हो जाते हैं. लहरों के साथ आने वाला ठंडी हवा का झोंका जो सुख देता है वो शायद कहीं और न मिले.

life 2

किनारे पर पड़ी नावें अकेली रह जाती हैं और उन पर सफ़र करने वाले आगे बढ़ जाते हैं. यही सच है. अंतिम सच. घुमक्कड़ी वो पागलपन है जिसमें या तो मन एक जगह पर ठहर जाएगा और बार-बार वहां आपको खींचेगा, या कहीं भी पहुंचने के बाद वो दूसरी जगह की ओर खींचेगा. असली मजा सफ़र में ही है.

horse

सफ़र में साथी हो तो बात कुछ और होती है. कोई भी हो. डूबते सूरज को बिना पलक झपकाए देखना, तब तक, जब तक कि वो लाली दूर पहाड़ों के पीछे, समंदर के किसी छोर पर सिमट न जाए.

stall

दुनिया दूर से जितनी रंगीन दिखती है. पास आने पर उतनी बेरंग. हालांकि फ़र्क नज़रिया का भी होता है. घुमक्कड़ी दरअसल इन्हीं बेरंग चीज़ों में रंग की तलाश करना है.

(तस्वीरें: #Birjugraphy)

ये भी पढ़ें:

किले के उस हिस्से में अजीब सी मनहूसियत थी…

”ऐसी चिलम मैंने ज़िंदगी में पहली बार पी थी…”

”यहां हमें भगवान की तरह ट्रीट किया गया”

(आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं. अपनी राय भी हमसे शेयर करें.)

2 thoughts on “यहां दिखते हैं ज़िंदगी के असली रंग

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s