कम खर्चे में घूम सकते हैं ये 5 हिल स्टेशन

सर्दियां आ गई हैं और साथ में स्नोफॉल भी. बर्फ और पहाड़ों का प्रेम अनोखा है. कितनी भी सर्दी हो, बर्फ से ढके पहाड़ और सर्द हवाओं के साथ झरझराती बर्फ पहले प्यार को जी भर से गले लगाने जैसा सुख देते हैं.

हिल स्टेशन वैसे तो काफ़ी हैं हमारे देश में लेकिन फिलहाल जहां जाने का सुकून है वो है हिमालय. कश्मीर, हिमाचल, उत्तरखंड से बेहतर और कोई विकल्प फिलहाल मेरी नज़र में नहीं है. यहां जाकर न सिर्फ आपको अंदर से सुकून महसूस होगा बल्कि ये सफ़र यादगार भी रहेगा.

तो इनमें से कोई भी जगह चुन लीजिए और निकलिए खुद को तलाश पाने वाले सफ़र में…

baba1

मनाली

हिमाचल का ये शहर मुझे काफ़ी पसंद है. इसकी खास वजह ये है कि इसके आसपास इतनी सारी जगहें हैं कि आप बिना अपना वक़्त बर्बाद किए अपनी छुट्टियों का आनंद अलग-अलग जगहों पर जाकर ले सकते हैं.

मनाली में आपको इतनी खूबसूरत जगहें देखने को मिलेंगी जहां आप बिल्कुल भी बोर नहीं होंगे. हिडिंबा मंदिर के पास एडवेंचर गेम का भी लुत्फ ले सकते हैं.

मनाली से करीब 14 किमी. दूर सोलांग वैली है, जहां जाकर आप और भी एडवेंचर का अहसास पाएंगे. रोपवे और हॉर्स राइडिंग, स्नो स्लाइडिंग और ट्रेकिंग भी कर सकते हैं.baba 5

रोहतांग पास का विकल्प भी है लेकिन नवंबर आते-आते यहां का रास्ता बंद कर दिया जाता है. इसलिए फिलहाल आपको निराशा हाथ लगेगी.

कैसे जाएं: दिल्ली से आप मनाली की सीधी बस ले सकते हैं. इस रूट पर प्राइवेट और हिमालच परिवहन की बसें भी मिलेंगी. एसी और नॉन एसी बसें आसानी से मिलती हैं.

कहां रुकें: यहां होटल आसानी से उपलब्ध हैं. आम तौर पर 800 से 1000 रुपये में होटल मिल जाते हैं. ज़्यादा लग्जरी के हिसाब से पैसा बढ़ सकता है. ऑनलाइन बुकिंग ट्राई करें और अगर डायरेक्ट बुक करने जा रहे हैं तो एक-दो होटल देखने के बाद तय करें.baba4

शिमला

शिमला शहर भी बेहद खूबसूरत है. यहां आपको चर्च और माल रोड की खूबसूरती पसंद आएगी तो साथ ही वहां से आप जाखू मंदिर भी जा सकते हैं. ये मंदिर पहाड़ की चोटी पर है. यहां हनुमान की 108 फीट ऊंची मूर्ति है. यहां पहुंचने के लिए आपको करीब ढाई किमी का सफ़र तय करना पड़ेगा.

शिमला के पास कुफरी है जहां बर्फबारी के मौसम में घूमना बेहद आनंद देने वाला है. ये जगह शिमला से 20 किमी दूर है. यहां जाकर शाम को शिमला वापस भी आया जा सकता है. आप चाहें तो कुफरी में भी रुक सकते हैं.

शिमला से आप मनाली या मनाली से शिमला का सफ़र भी तय कर सकते हैं. रास्ते में कुल्लू में भी आप रुक सकते हैं. यहां नदी का किनारा मिलेगा साथ ही प्रकृति के बीच होने का अहसास भी. कई सारे मंदिर हैं जहां जा सकते हैं.

इसके अलावा यहां से आप कसोल के लिए भी बस पकड़ सकते हैं. कसोल को मिनी इजराइल कहा जाता है. कुल्लू का दशहरा मेला काफी चर्चित है.

READ ALSO: ऑफिस में घंटों काम करने वाले घुमंतू लोगों के लिए खास टिप्स

baba2

कैसे पहुंचें: शिमला के लिए दिल्ली से सीधी बसें हैं. एसी और नॉन एसी भी. यहां तक पहुंचने के लिए ट्रेन से भी सफ़र किया जा सकता है. सबसे नजदीकी स्टेशन कालका है. यहां से बस के ज़रिए शिमला जा सकते हैं.

शिमला से लौटते वक़्त टॉय ट्रेन का लुत्फ ले सकते हैं जो प्रकृति की गोद से होकर गुजरती है और आपकी ट्रिप को पैसा वसूल बनाती है.

कहां रुकें: यहां भी होटल आसानी से उपलब्ध हैं. यहां 1500 से 2000 के बीच आपको अच्छा होटल मिल सकता है. लेकिन ये इस पर भी डिपेंड करता है कि किस समय आप यहां जा रहे हैं. चार्जेस बदलते रहते हैं.

नैनीताल

उत्तराखंड का ये शहर अपने आप में काफ़ी खूबसूरती समेटे है. नैनीताल से हिमालय रेंज साफ दिखती है. बर्फ से ढकी पहाड़ की चोटियों के बीच से निकलता सूरज रातभर की थकान मिटा देने वाला होता है. अगर आप सफ़र करते हुए सुबह-सुबह नैनीताल पहुंच रहे हैं तो सीधे व्यू प्वाइंट के लिए गाड़ी करें. सनराइज देखकर दिल खुश हो जाएगा. रास्ते में कई सारी झील और पहाड़ के नज़ारे दिखेंगे.

READ ALSO: सोलो ट्रैवेलिंग पर जाना है तो ऐसे बनाएं प्लान…

baba 7

नैनीताल में टिफिन टॉप, हनुमान गढ़ी, स्नो व्यू प्वाइंट जा सकते हैं. नैनीताल की चर्चित झील में बोटिंग भी कर सकते हैं.

नैनीताल के आसपास भीमताल, नौकुचियाताल और खुर्पाताल भी हैं जहां जा सकते हैं. भीमताल से नौकुचियाताल जाकर वहां ठहरा जा सकता है. यहां आपको बोटिंग और कुछ एडवेंचर स्पोर्ट्स भी करने को मिल सकते हैं.

कैसे जाएं: नैनीताल से भीमताल और नौकुचियाताल के लिए आप बस या टैक्सी ले सकते हैं. टैक्सी शेयरिंग में भी मिल जाती है.

कहां रुकें: नैनीताल में 1000 से 1500 के बीच होटल मिल सकते हैं. जबकि नौकुचियाताल में 500 रुपये तक अच्छे कॉटेज भी मिल सकते हैं.

ऋषिकेश:

ऋषिकेश में गंगा के किनारे बैठकर ताज़ा हवा लेने का आनंद बेहद सुकून देने वाला है. यहां आप राम झूला, लक्ष्मण झूला, नीलकंठ मंदिर और कई आश्रम घूम सकते हैं.

रिवर राफ्टिंग, बोटिंग के अलावा आप यहां डुबकी भी लगा सकते हैं. शांत जगह है इसलिए किसी तरह की परेशानी नहीं होती और यहां लोग काफी मददगार हैं.

baba3

ऋषिकेश के साथ आप हरिद्वार भी घूम सकते हैं. दोनों जगहों पर शाम को होने वाली गंगा आरती बेहद खूबसूरत होती है. बेशक आपको सुकून मिलेगा. यहां योग और मेडिटेशन के तमाम सेंटर भी हैं, जहां आप जा सकते हैं.

कैसे पहुंचें: दिल्ली से हरिद्वार के लिए सीधी ट्रेन और बस है. हरिद्वार से आप बस के ज़रिए ऋषिकेश जा सकते हैं. अगर सीधे ऋषिकेश जाना चाहते हैं तो दिल्ली से बस ले सकते हैं.

कहां रुकें: यहां आश्रमों में रुका जा सकता है. उनके अपने चार्जेस हैं. 200 से 500 रुपये तक में अच्छा रूम मिल जाता है. होटल भी आसानी से उपलब्ध हैं.

मसूरी

मसूरी को पर्वतों की रानी कहा जाता है. यहां आपको झील से लेकर झरने तक मिलेंगे. यहां झरनों और झील की खूबसूरती आपको पसंद आएगी.

मसूरी में लाल टिब्बा जाकर आप सनसेट भी देख सकते हैं. यहां से सनसेट बेहद सुंदर दिखता है जो ढ़लती शाम के साथ आपका दिन यादगार बना देता है.

READ ALSO: मांडू: घूमने के शौकीनों के लिए यहां दिखेगी खास ‘लव स्टोरी’

baba 6

मसूरी में आप गन हिल, तिब्बती मंदिर, कैमल बैक रोड, झड़ीपानी फॉल, भट्टा फॉल, कैम्पटी फॉल, मसूरी झील, नाग देवता मंदिर जा सकते हैं.

कैसे जाएं: देहरादून से मसूरी के लिए टैक्सी और रोडबेज की बसें उपलब्ध हैं. एक घंटे में आप यहां पहुंच सकते हैं.

कहां रुकें: यहां 800 से 1000 रुपये में होटल मिल जाएंगे. सीजन के हिसाब से महंगे भी हो सकते हैं.

(आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं. अपनी राय भी हमसे शेयर करें.)

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s